PuliyaBaazi-logo

PuliyaBaazi

News & Politics Podcasts >

A new podcast from India. One of the few podcasts that reaches out to a Hindi-speaking crowd.

A new podcast from India. One of the few podcasts that reaches out to a Hindi-speaking crowd.
More Information

Location:

India

Description:

A new podcast from India. One of the few podcasts that reaches out to a Hindi-speaking crowd.

Language:

Hindi


Episodes

Ep. 27: एक नई विश्व व्यवस्था के लिए भारत कैसे तैयारी करे?

1/9/2019
More
विश्व व्यवस्था के घटनाक्रम में हाल ही तीव्रता से बदलाव हुए हैं। अमरीका और चीन के बीच में 1971 से शुरू हुआ तालमेल का सिलसिला आज एक शीत युद्ध में तब्दील हो गया है। बदलते समीकरणों के चलते अगले २५ सालों में भारत को क्या कदम उठाने चाहिए, इस विषय पर है हमारी इस हफ़्ते की पुलियाबाज़ी | इस पुलियाबाज़ी में सौरभ और प्रणय ने इन सवालों पर चर्चा की: १. “विश्व-व्यवस्था” शब्द का अर्थ क्या है? २. ऐतिहासिक तौर पर किस प्रकार की विश्व-व्यवस्थाएं रह चुकी है? ३. अमरीका और चीन के मनमुटाव के चलते भारत पर इसका...

Duration:00:58:12

Ep. 26: भाग रॉकेट भाग: भारत के अंतरिक्ष प्रोग्राम की कहानी

12/26/2018
More
अंतरिक्ष खोजने की चाह हज़ारों साल पुरानी है। लेकिन अंतरिक्ष तक पहुंचने की क्षमता केवल सत्तर साल पुरानी है। और भारत उन चुनिंदा देशों में से है जिसने इस खोज में कई झंडे गाढ़े है। तो इस बार पुलियाबाज़ी में हमने भारत के अंतरिक्ष प्रोग्राम पर खुलकर चर्चा की पवन श्रीनाथ से, जो इस विषय पर काफ़ी सालों से शोधकार्य कर रहे हैं। पवन तक्षशिला संस्थान में फेलो है और थले-हरटे (कन्नड) और प्रगति (अंग्रेज़ी) पॉडकास्ट के होस्ट है। हमने इन सवालों पर बातें की इस एपिसोड में: 1. एक ग़रीब देश के अंतरिक्ष प्रोग्राम को...

Duration:01:03:18

Ep. 25: परदेसी परदेसी जाना नहीं

12/12/2018
More
‘मेरे पिया गए रंगून, वहाँ से किया है टेलीफून” याद आया न यह गाना? लेकिन आपने सोचा कि इनके पिया आख़िर क्यों और कैसे रंगून पहुंचे? आम धारणा यह है कि भारत में अक़्सर लोग जिस गाँव में जन्म लेते थे, उसी में पूरा जीवन व्यतीत कर देते थे | लेकिन हमारे इस एपिसोड के सह-पुलियाबाज़ चिन्मय तुम्बे बताते है कि भारत का प्रवास याने कि migration के साथ अटूट रिश्ता है | चिन्मय १० साल से migration पर शोध कर रहे है और उन्होंने अपनी किताब India Moving: A History of Migration में भारतीय समाज और migration के कई अनोखे...

Duration:01:01:52

Ep. 24: धरती के बर्फीले छोरों से कहानी Climate Change की

11/28/2018
More
जलवायु परिवर्तन (climate change) के भीषण प्रभावों पर आंकड़े तो स्पष्ट हैं लेकिन फिर भी हम और हमारी सरकारें इस वैश्विक समस्या को गंभीरता से नहीं ले रहे | तो इस पुलियाबाज़ी में हमने सीधे बात की ऐसे क्लाइमेट सेनानी से जो क्लाइमेट चेंज के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए धरती के दोनों बर्फीले ध्रुवों तक ही पहुँच गए | सुनिए हमारी पुलियाबाज़ी राजा कार्तिकेय से जिन्होंने एक साल के भीतर ही अंटार्कटिक और आर्कटिक ध्रुवों का दौरा किया | पेशे से राजा सयुंक्त राष्ट्र में राजनैतिक अफ़सर है और उनकी अपनी कहानी...

Duration:01:01:23

Ep. 23: Arthashashtra Part 2: Foreign Policy कैसी होनी चाहिए?

11/14/2018
More
Real estate से लेकर business advice तक, कौटिल्य नीति को बिना सिर पैर उपयोग करने की होड़ लगी है आजकल | अर्थशास्त्र को ignore करना तो ग़लत है ही, पर उसे ग़लत समझना और भी हानिकारक है | तो कौटिल्य अर्थशास्त्र से जुड़ी कई ग़लतफ़हमियों को ठीक करने के लिए हमने की पुलियाबाज़ी कजरी कमल से जो कि ‘अर्थशास्त्र और Indian Strategic Culture’ पर PhD कर रही हैं हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय से | कजरी तक्षशिला इंस्टीटूशन के Graduate certificate in Strategic Studies में ‘अर्थशास्त्र और भारतीय विदेश नीति’ course...

Duration:00:49:22

Ep. 22: Arthashashtra Part 1: साम, दाम, भेद, दंड से परे

11/7/2018
More
Real estate से लेकर business advice तक, कौटिल्य नीति को बिना सिर पैर उपयोग करने की होड़ लगी है आजकल | अर्थशास्त्र को ignore करना तो ग़लत है ही, पर उसे ग़लत समझना और भी हानिकारक है | तो कौटिल्य अर्थशास्त्र से जुड़ी कई ग़लतफ़हमियों को ठीक करने के लिए हमने की पुलियाबाज़ी कजरी कमल से जो कि ‘अर्थशास्त्र और Indian Strategic Culture’ पर PhD कर रही हैं हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय से | कजरी तक्षशिला इंस्टीटूशन के Graduate certificate in Strategic Studies में ‘अर्थशास्त्र और भारतीय विदेश नीति’ course...

Duration:00:45:43

Ep. 21: Raid के पीछे, एक टैक्स अफ़सर की ज़ुबानी

10/24/2018
More
मुंशी प्रेमचंद की कहानी ‘नमक का दरोगा’ एक ईमानदार टैक्स इंस्पेक्टर के सामने आने वाली चुनौतियों की अमर दास्ताँ है | तो इस बार पुलियाबाज़ी में हमने समझना चाहा कि एक युवा सरकारी अफ़सर की ज़िन्दगी आख़िर कैसी होती है ? क्यों आज भी कुछ इंजीनियर और डॉक्टर सरकारी अफ़सर बनना पसंद करते है ? यह सब बताया हमें सलिल बिजूर ने, जो आयकर विभाग के इन्वेस्टीगेशन विंग में डिप्टी डायरेक्टर है | इस पुलियाबाज़ी में उन्होंने बताया कि लोग टैक्स बचाने के लिए क्या-क्या नायाब तरीक़े अपनाते है | उन्होंने टैक्स व्यवस्था में...

Duration:00:56:07

Ep. 20: परमाणु हथियार:इस ब्रह्मास्त्र से कैसे बचें?

10/10/2018
More
इस साल के शुरू होते ही अमरीकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने एक ट्वीट में उत्तर कोरिया को चेताया था कि अमरीका के परमाणु हथियार उत्तर कोरिया के मुक़ाबले कई ज़्यादा प्रभावशाली है | इस एक ट्वीट से ही सारी दुनिया काँप गयी थी | तो इस पुलियाबाज़ी में हमने परमाणु हथियार और उनकी राजनीति पर ग़ौर किया लेफ्टिनेंट जनरल प्रकाश मेनन के साथ | जनरल मेनन ४० साल सैन्य विषयों पर काम कर चुके है | उन्हें परम विशिष्ट सेवा मेडल सहित कई पुरस्कारों से नवाज़ा गया है | आजकल वे तक्षशिला इंस्टीट्नयूशन में स्ट्रैटिजिक नीति के बुनियादी...

Duration:00:57:22

Ep. 19: संसद के अंदर

9/26/2018
More
भारतीय लोकतंत्र में एक सांसद का रोल क्या है? हमारी पार्लियामेंट और राज्य विधान सभाओं को और प्रभावशाली कैसे बनाया जाए? हमें सांसदों के बढ़ते वेतनभत्ते से कितना चिंतित होना चाहिए? इन सब सवालों के दिलचस्प जवाब सुनिए संसदीय मामलों के विशेषज्ञ चक्षु रॉय के साथ चली हमारी पुलियाबाज़ी में। चक्षु PRS Legislative Research संस्था में विधायकी और नागरिक रिश्तों की पहल संभालते है। अगर आपको यह शो पसंद आया तो ऐसे अन्य शो सुनने के लिए IVM Podcast App डाउनलोड कीजिये एंड्राइड: https://goo.gl/tGYdU1 और iOS:...

Duration:01:01:23

Ep. 18: तूफ़ान-ए-तुर्क में रूपया बेहाल

9/12/2018
More
आर्थिक जगत में मुद्रा युद्ध की हवा चल रही है | टर्की और अमरीका के बीच शुरू हुई यह आंधी भारत तक पहुँची कैसे? भारतीय सरकार और रिज़र्व बैंक रुपये में आयी गिरावट से उभरने के लिए कितने सक्षम है ? जानिए हमारी नारायण रामचंद्रन के साथ चली इस पुलियाबाज़ी में | नारायण एक इन्वेस्टर, लेखक, और तक्षशिला इंस्टीटूशन में सीनियर फेलो हैं | इससे पहले नारायण मॉर्गन स्टैनली इंडिया के प्रमुख और RBL बैंक के ग़ैर-कार्यकारी अध्यक्ष रह चुके है | अगर आपको यह शो पसंद आया तो ऐसे अन्य शो सुनने के लिए IVM Podcast App...

Duration:00:50:24

Ep. 17: मिलिट्री-जिहादी कॉम्प्लेक्स: पाकिस्तान का दूसरा चेहरा

8/29/2018
More
नवजोत सिंह सिद्धू की झप्पी ने बड़ा बवाल उठा दिया भारत में | तो इस बार की पुलियाबाज़ी पाकिस्तान के मिलिट्री-जिहादी कॉम्प्लेक्स पर | ऐसा क्यों कि भारत-पाकिस्तान के रिश्ते सुधारने की कोई कोशिश के शुरू होते ही आतंकवादी हमले उस प्रक्रिया को विफल कर देते हैं? हमारा दावा है कि इस प्रकरण को समझने के लिए हमें जानना होगा कि पाकिस्तान में एक नहीं दो हुकूमतें है ! एक तो है उनकी सिविलियन सरकार और दूसरा - मिलिट्री-जिहादी कॉम्प्लेक्स (MJC) | कौनसी बला है यह MJC और भारत को इसका सामना कैसे करना चाहिए, जाने इस...

Duration:00:42:30

Ep. 16: आज़ाद भारत का रिपोर्ट कार्ड

8/15/2018
More
पुलियाबाज़ी के इस Independence Day Special अंक में प्रस्तुत है हमारे दृष्टिकोण से आज़ादी का लेखा-जोखा | कौनसी चुनौतियों को हमने हराया है और कौन सी मुश्किलों से हम आज भी जूझ रहे है, इन प्रश्नों पर सुनिए एक चर्चा | अगर आपको यह शो पसंद आया तो ऐसे अन्य शो सुनने के लिए IVM Podcast App डाउनलोड कीजिये एंड्राइड: https://goo.gl/tGYdU1 और iOS: https://goo.gl/sZSTU5 पर

Duration:01:02:20

Ep. 15: एक डॉक्टर और

8/1/2018
More
भारत में हर 1668 लोगों के लिए सिर्फ एक डॉक्टर है । इस अभाव के बावजूद मेडिकल कॉलेजों में सीटें इस साल घटा देने का कारण क्या है? राज्य और केंद्र सरकार क्या कर सकती हैं अच्छे डॉक्टरों की संख्या में इज़ाफ़ा करने के लिए, जानिए इस एपिसोड में। इस विषय पर हमारे सह-पुलियाबाज़ है संबित दाश(https://twitter.com/sambit_dash?lang=en) जो मेलाका मणिपाल मेडिकल कॉलेज में लेक्चरर है। संबित के मेडिकल शिक्षा पर लेख...

Duration:00:39:29

Ep. 14: तारीख़ पे तारीख़

7/18/2018
More
हमारे न्यायतंत्र की ढिलाई से शायद हर इंसान वाक़िफ़ है. तो पुलियाबाज़ी के इस अंक में हमने गोता लगाया इस ढिलाई के कारणों को समझने के लिए, सूर्य प्रकाश के साथ. सूर्य प्रकाश, दक्ष नामक संस्था में फ़ेलो और प्रोग्राम डिरेक्टर हैं. दक्ष संस्था पिछले कई सालों से, न्यायतंत्र की दक्षता बढ़ाने पर शोधकार्य कर रही है. उनकी State of The Indian Judiciary(http://dakshindia.org/state-of-the-indian-judiciary/00_cover.html) रिपोर्ट, हमारे कोर्ट सिस्टम की हालत बख़ूबी बयां करती है. अगर आपको यह शो पसंद आया तो...

Duration:00:55:35

Ep.13: जो मेरा है, क्या वो सच में मेरा है?

7/4/2018
More
Property Rights का भारत में एक पेचीदा इतिहास है | यह एक ऐसा अधिकार है जिसके बिना बाक़ी सारे संवैधानिक अधिकार बेअसर हो जाते है | इसके बावजूद हमने बार-बार प्रॉपर्टी पर अधिकार को बलि पर चढ़ाया है, जिसका खामियाज़ा हम आज तक भुगत रहे है | तो इस बार की पुलियाबाज़ी, प्रॉपर्टी के अधिकार पर | इस विषय को सुलझाने के लिए हमने बात की श्रुति राजगोपालन से, जो स्टेट यूनिवर्सिटी न्यूयॉर्क में अर्थशास्त्र पढ़ाती हैं और क्लासिकल लिबरल इंस्टिट्यूट में फ़ेलो हैं | श्रुति के इस विषय पर पढ़िए विचार प्रगति में |...

Duration:01:22:39

Ep. 12: चीन, एक खोज - भाग 2

6/20/2018
More
कहने के लिए तो चीन हमारा पडोसी देश है पर वास्तव में हम चीन के बारे में बहुत कम जानते है | इस जानकारी के अभाव के कारण हम लोग या तो हम चीन की तरक्की से मंत्रमुग्ध हो जाते है या फिर उसे एक जानी दुश्मन का दर्जा दे देते है | यह दोनों दृष्टिकोण हमें चीन की असलियत से और दूर ले जाते है | तो चीन को कुछ गहराई से समझने के लिए हमने बात की मनोज केवलरमानी से, जो तक्षशिला इंस्टीटूशन में भारत-चीन संबंधों पर काम करते है | उनका साप्ताहिक न्यूज़लेटर Eye on China...

Duration:00:51:41

Ep. 11: चीन, एक खोज - भाग 1

6/13/2018
More
कहने के लिए तो चीन हमारा पडोसी देश है पर वास्तव में हम चीन के बारे में बहुत कम जानते है | इस जानकारी के अभाव के कारण लोग या तो चीन की तरक्की से मंत्रमुग्ध हो जाते है या फिर उसे एक जानी दुश्मन का दर्जा दे देते है | यह दोनों दृष्टिकोण हमें चीन की असलियत से और दूर ले जाते है | तो चीन को कुछ गहराई से समझने के लिए हमने बात की मनोज केवलरमानी से, जो तक्षशिला इंस्टीटूशन में भारत-चीन संबंधों पर काम करते है | उनका साप्ताहिक न्यूज़लेटर Eye on China (https://www.thinkpragati.com/category/world/china/)...

Duration:01:00:46

Ep. 10: युवा भारत क्या चाहता है?

5/30/2018
More
भारत की आधी जनसंख्या २७ साल से कम उम्र की है | इसीलिए यह जानना ज़रूरी है कि इस वर्ग के लोगों की आशायें, चिंतायें, और आकांक्षायें क्या हैं | तो पुलियाबाज़ी के इस एपिसोड में सौरभ और प्रणय ने बात की पत्रकार और लेखक स्निग्धा पूनम से - जिनकी नयी किताब “Dreamers: How Young Indians are Changing the World"(https://www.amazon.in/Dreamers-Young-Indians-Changing-Collection/dp/0670087572/ref=sr_1_1?ie=UTF8&qid=1527664712&sr=8-1&keywords=snigdha+poonam) भारत के कुछ महत्वाकांक्षी युवक-युवतियों की ज़िन्दगी पर...

Duration:00:36:04

Ep. 9: भारत और अफ़ग़ानिस्तान : काबुलीवाला से तालिबान तक

5/16/2018
More
क्या एक R&AW अफसर की जिंदगी "टाइगर" के सलमान जैसी होती है? तालिबान की बर्बरतापूर्ण सरकार को अफ़ग़ानिस्तान से हटाने में भारत का क्या योगदान था? पाकिस्तान तालिबान को किस तरह समर्थन देता है? पुलियाबाज़ी के इस अंक में इन सब सवालों का जवाब जानिये श्री आनंद आरणी से -- जिन्होंने भारत की इंटेलिजेंस एजेंसी R&AW के लिए अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान मामलों पर तक़रीबन तीन दशक काम किया है | अगर आपको यह शो पसंद आया तो ऐसे अन्य शो सुनने के लिए IVM Podcast App डाउनलोड कीजिये एंड्राइड: https://goo.gl/tGYdU1 और iOS:...

Duration:01:07:25

Ep. 8: सभी का ख़ून है शामिल यहाँ की मिट्टी में

5/15/2018
More
राहत इंदौरी के शब्दों में – ‘सभी का ख़ून है शामिल यहाँ की मिट्टी में, किसी के बाप का हिन्दोस्तान थोड़ी है’| पिछले ७-८ सालों में आयी जेनेटिक क्रांति राहत इंदौरी के इस कथन का प्रमाण दे रही है | और इसलिए हमने पुलियाबाज़ी के इस अंक में डेविड राइख की किताब ‘Who We Are and How We Got Here' (https://www.amazon.in/Who-Are-How-Got-Here/dp/110187032X?tag=maswe-21) के भारत पर आधारित अध्याय पर चर्चा की | इस एपिसोड में जानिये क्यूँ हर भारतीय का ९००० साल पहले ईरान से आये हुए लोगों से एक अटूट रिश्ता है, और...

Duration:00:56:57